January 26, 2021

CG News 24

नई सदी की पत्रकारिता

हाॅकेर राईस मिल से 1000 क्विंटल धान जप्त; तीन को नोटिस, महासमुंद में भी 7148 बोरा धान समेत 6 वाहन जप्त

1 min read

रायपुर, कांकेर जिले में धान के अवैध भंडारण एवं परिवहन पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। राजस्व एवं खाद्य विभाग के अधिकारियों तथा  मंडी के अधिकारियों की संयुक्त टीम द्वारा गत दिवस पखांजूर तहसील हाॅकेर स्थित कृष्णा राईस मिल से 25 सौ बोरा लगभग 01 हजार क्विंटल धान को जप्त किया गया है, जो इस वर्ष जिले में अब तक की सबसे बड़ी जप्ती की कार्यवाही है। इस कार्यवाही में नायब तहसीलदार मोहित साहू, खाद्य निरीक्षक जतिन देवांगन और मंडी उप निरीक्षक बलराम कोर्राम शामिल थे। उक्त टीम द्वारा धान खरीदी केन्द्र हाॅकेर में टोकन से ज्यादा धान की तौलाई का मामला भी पकड़ा गया तथा 104 बोरा मोटा धान जप्त किया गया। तहसीलदार शेखर मिश्रा ने बताया पखांजूर तहसील के 05 धान खरीदी केन्द्रों पी.व्ही. 32, पी.व्ही. 121, माटोली, छोटेबेठिया, कुरेनार के केन्द्र प्रभारी को हटा दिया गया है तथा कुल तीन समिति प्रबंधन को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है। बांदे समिति के एक मामले में एफआईआर भी दर्ज हो चुका है। इधर महासमुंद जिला खाद्य अधिकारी नीतिश त्रिवेदी ने बताया कि आज जिले में 11 प्रकरणो पर 318 बोरा धान अर्थात् (127.2 क्विंटल) धान जप्त किए गए। उन्होंने बताया कि इनमें बसना तहसील केे ग्राम अरेकेल निवासी दुलोमणी साव से 50 बोरी धान जप्त किया गया। इसी तरह सरायपाली तहसील के अंतर्गत ग्राम नवागढ़ के हरिहर साहू से 25 बोरी धान जप्त किया गया। इसके अलावा महासमुंद तहसील के अंतर्गत ग्राम बनपचरी के अभय राम से 40 बोरी धान एवं अनिल चन्द्राकर से 40 बोरी धान, ग्राम सरईपाली के गौतम दीवान से 25 बोरी, ग्राम भटगांव के पंचराम दीवान से 25 बोरी एवं दिलीप कुमार साहू से 25 बोरी धान जप्त किया गया हैं।बागबाहरा तहसील के अंतर्गत ग्राम भोथा निवासी श्रीमती देवकुमारी से 18 बोरी एवं शीतल प्रसाद तिवारी से 25 बोरी धान तथा पिथौरा तहसील के ग्राम लिमरदा निवासी दीपक अग्रवाल से 25 बोरी एवं ग्राम बरेकेल (पिरदा) निवासी जयदेव साहू से 20 बोरी अवैध धान भंडारण करने पर जप्त कर कार्रवाई की गई। त्रिवेदी ने बताया कि अब तक जिले में कुल 128 प्रकरण दर्ज किए गए है। जिनमें 7148 बोरा धान अर्थात् 2852.2 क्विंटल धान की जप्ती की गई है। इनमें 06 वाहन भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *